Teri Meri Pyar Wali Mohabbat

मेरी फिक्र में खुद को भूल जाती हो
और बेखबर हो मुझ को ये जताती हो।

होने लगती हो जिस पल दूर मुझसे
कसम से उस पल बहुत याद आती हो।

चाहती हो कितना, पूछू जब कभी तो
आँखों ही आँखों में सब कुछ बताती हो।

मोहब्बत में मेरी खुद को भुलाए बैठी हो
और दिल में अपने जज़्बात छुपाती हो॥

Author: ShineMagic

Leave a Reply