Posted in Hindi Shayari

Tera Chehra

Kabhi Aansoo Kabhi Khushboo Kabhi Naghma Ban kar, Hum Se Her shaam Mili Hai Tera Chehra Ban kar… Chand Nikla Hai Teri Ankh K Ansoo…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Mere Sath Tum Bhi Duwa Karo

Mere sath tum bhi duwa karo youn kisi ke haq me bura na ho, kahin aur ho na yeh hadsa koi raastey main juda na…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Mai Ek Naari Hun

मैं एक नारी हुँ प्रेम चाहती हूँ और कुछ नही….. मैं एक नारी हूँ,मैं सब संभाल लेती हूँ हर मुश्किल से खुद को उबार लेती…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Gaon aur Sehar Shayari

तेरी बुराइयों को हर अख़बार कहता है, और तू मेरे *गांव* को *गँवार* कहता है // *ऐ शहर* मुझे तेरी *औक़ात* पता है // तू…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Kaisa hai ye Purush Samaj

आज मेरी माहवारी का दूसरा दिन है। पैरों में चलने की ताक़त नहीं है, जांघों में जैसे पत्थर की सिल भरी है। पेट की अंतड़ियां…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Dagmagaye se hain aaj Kadam

डगमाये से है कदम क्यू ना … आज रंगीनियत की शाम लिख दूं पाकेट में है रकम बेहिसाब सोचता हूँ किस्मत ..क्यू ना उस बेवफा…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Bachpan par Hindi me Kavita

टेढ़े मेढ़े रास्तों से चल … पके आम खेतो से चुरा लाते है रखवाली करती उस बुढिया की प्यारी सी गालियाँ ,चल फिर आज सुन…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Bete bhi Ghar Chod ke Jate Hain

बेटे भी घर छोड़ के जाते हैं.. अपनी जान से ज़्यादा..प्यारा लेपटाॅप छोड़ कर… अलमारी के ऊपर रखा…धूल खाता गिटार छोड़ कर… जिम के सारे…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Bacpan ke Dosto ki Yaad Dilati Sunder Kavita

साथ साथ जो खेले थे बचपन में वो सब दोस्त अब थकने लगे है किसीका पेट निकल आया है किसीके बाल पकने लगे है सब…

Continue Reading...
Posted in Hindi Shayari

Dard or Uspar Meri Shayari

पीर जब बेहिसाब होती है शायरी लाजवाब होती है इक न इक दिन तो ऐसा आता है शक्ल हर बेनकाब होती है चांदनी जिसको हम…

Continue Reading...