Meri Pyari Beti Hindi Kavita

घर आने पर दौड़ कर जो पास आये, उसे कहते हैं बिटिया
थक जाने पर प्यार से जो माथा सहलाए, उसे कहते हैं बिटिया

“कल दिला देंगे” कहने पर जो मान जाये, उसे कहते हैं बिटिया
हर रोज़ समय पर दवा की जो याद दिलाये, उसे कहते हैं बिटिया

घर को मन से फूल सा जो सजाये, उसे कहते हैं बिटिया
सहते हुए भी अपने दुख जो छुपा जाये, उसे कहते हैं बिटिया

दूर जाने पर जो बहुत रुलाये, उसे कहते हैं बिटिया
पति की होकर भी पिता को जो ना भूल पाये, उसे कहते हैं बिटिया

मीलों दूर होकर भी पास होने का जो एहसास दिलाये,
उसे कहते हैं बिटिया
“अनमोल हीरा” जो इसीलिए कहलाये, उसे कहते हैं बिटिया

Author: ShineMagic

1 thought on “Meri Pyari Beti Hindi Kavita

  1. -पूछा प्रभु ने ख्वाब में क्या चाहता है ‘गीतराज’
    तुरंत निकला मुख से दुनिया में सुकून

    -झुकने नहीं देंगे नज़र वो काम करेंगे
    हम है हिंदुस्तानी रोशन नाम करेंगे

    -एकता के धागे में बांधता है तिरंगा
    बहाता है दिलों में देश प्रेम की गंगा
    -Geetraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*