Heart Touching Lines by a Wife

जो लोग पत्नी का उपहास ( मजाक ) उड़ाते है।
उन सभी के लिये
.
पत्नी एक सवाल पूछती है आपसे………
.
देह मेरी, हल्दी तुम्हारे नाम की ।
हथेली मेरी, मेहंदी तुम्हारे नाम की ।
सिर मेरा, चुनरी तुम्हारे नाम की ।
मांग मेरी, सिन्दूर तुम्हारे नाम का ।
माथा मेरा, बिंदिया तुम्हारे नाम की ।
नाक मेरी, नथनी तुम्हारे नाम की ।
गला मेरा, मंगलसूत्र तुम्हारे नाम का ।
कलाई मेरी,चूड़ियाँ तुम्हारे नाम की ।
पाँव मेरे, महावर तुम्हारे नाम की ।
उंगलियाँ मेरी, बिछुए तुम्हारे नाम के ।
बड़ों की चरण-वंदना मै करूँ, और
‘सदा-सुहागन’ का आशीष तुम्हारे नाम का ।
करवाचौथ/बड़मावस के व्रत भी तुम्हारे नाम के ।
यहाँ तक कि कोख मेरी/ खून मेरा/ दूध मेरा,
और बच्चा ?
बच्चा तुम्हारे नाम का ।
यूँ तो घर की लक्ष्मी मै,
घर के दरवाज़े पर लगी ‘नेम-प्लेट’ तुम्हारे नाम की ।
और तो और –
मेरे अपने नाम के सम्मुख लिखा गोत्र भी मेरा नहीं, हे तुम्हारे नाम का ।
.
जब सब कुछ तुम्हारे नाम का…
.
फिर उपहास किस का कर रहे ,
मेरा या अपने आप का, मेरा या अपने आप का…!!!

Author: ShineMagic

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*