2 Line Hindi Sms Shayari Collection Part-5

हमें तो प्यार के दो लफ्ज ही नसीब नहीं,
और बदनाम ऐसे जैसे इश्क के बादशाह थे हम..!!
“-”
बिखरने दो होंठों पे हँसी की फुहारों को,
प्यार से बात कर लेने से दौलत कम नहीं होती..!!
“-”
हमारे जीने का तरीका थोडा अलग हे ,
हम उमीद पे नहीं , हमारे जिद पर जीते है..!!
“-”
वक़्त-बेवक्त आ जाती हैं तुम्हारी यादें भी,
खैर हमने भी कौन सा वक़्त देखकर तुमसे मुहब्बत की थी..!!
“-”
बड़ी सादगी से उसने कह दिया रात को सो भी लिया कर,
रातो को जागने से मोहब्बत लौट नहीं आती…
“-”
बारिशों में भींगना गुज़रे ज़माने की बातें हो गई,
कपड़ों की क़ीमतें मस्ती से कहीं ज्यादा हो गई…
“-”
खुदा जाने कौन सा ‪गुनाह‬ कर बैठे हैं हम,
कि तमन्नाओं‬ वाली उम्र में तजुर्बे‬ मिल रहे हैं।
“-”
चाँद का मिज़ाज़ भी तेरे जैसा ही है,
जब देखने की तमन्ना हो तो,
नज़र ही नहीं आता |

If you like this shayari, Please like and share on Facebook

 
   

Please Like MailShayari on Facebook

Mail Shayari on Facebook

One Response to “2 Line Hindi Sms Shayari Collection Part-5”

  1. Mosin SM 09989378288 Says:

    Tabdilliya jab bhi aati hai mousam ki in aadaon me ,, uska yu badal jana accha nhi lagta ,, SM

Leave a Reply