2 Line Hindi Font Sayari Sms

बहुत कुछ कह दिया चुपके से उन लरज़ती आँखों ने,
कि कुछ जज़्बातों के लिए अल्फाज़ मुक्कमल नहीं होते..!

**************************
चलते रहेंगे क़ाफ़िले मेरे बग़ैर भी यहाँ.
एक तारा टूट जाने से, फ़लक़ सूना नहीं होता..!

**************************
कभी तो झूठ ही कह दो मेरे बिना अधूरे हो तुम,
ज़रा सी बात कहने में तुम्हारा क्या बिगड़ता है..!!

**************************
सौ दुशमन बनाए हमने, किसी ने कुछ ना कहा,
एक को हमसफर क्या बनाया, सौ उँगलियाँ उठ गई..!

**************************
नींद का बंटवारा कुछ यूँ हुआ मेरा “ऐ दोस्तों”
कुछ मोबाइल के हिस्से आयी और कुछ ख्वाबो के हाथ लगी..

If you like this shayari, Please like and share on Facebook

 
   

Please Like MailShayari on Facebook

Mail Shayari on Facebook

Leave a Reply