Anjana Shayari in Hindi

तुम फिर अनजाना कह जाना,
यु यादों की आगोशी में,
ना शोर जुबा का,
धडकनों की ख़ामोशी में,
तुम फिर नाम नया,
बेवफा कह जाना,
भूली वफा की मदहोशी में ,
तुम फिर यु तनहा कर जाना,
हर लम्हे की सरफरोशी में
तुम फिर अनजाना कह जाना,
यु यादों की आगोशी में,
From:- Hritesh Jaiswal

If you like this shayari, Please like and share on Facebook

 
   

Please Like MailShayari on Facebook

Mail Shayari on Facebook

Leave a Reply