Aakhiri Khwahish Shayari in Hindi Font

एतना टूट के चाहा उन्हे की तड़प गये उन्हे पाने के लिए….
एक आख़िरी “ख्वाहिश” थी उनके दीदार के लिए…!!
नसीब का खेल तो देखो यारो,,,,
वो ब दफ़न क्ररनी पड़ि ह्मे सिर्फ़ उन्ही की ” खुशी” के लिए…!!!!!
Collections of Seema Aggarwal

If you like this shayari, Please like and share on Facebook

 
   

Please Like MailShayari on Facebook

Mail Shayari on Facebook

Leave a Reply