Mushkil Waqt par Shayari

जर्जर हौसला…

जर्जर हौसला मरम्मत मांगता है;
मुश्किल वक्त हिम्मत मांगता है;

उम्र भर नेकी न की गयी मगर;
अब बुढ़ापे में जन्नत मांगता है;
मुश्किल वक्त…

वफ़ा के सौदे में वो सितमगर मुझसे;
शर्त में बेशर्त मोहब्बत मांगता है;
मुश्किल वक्त…

काफ़िर बेटों का वो खुदा-परस्त बाप;
औलादों के लिए मन्नत मांगता है;
मुश्किल वक्त…

एक रुपया नहीं निकलता उनकी जेब से;
जिनके लिए माँ का दिल बरकत मांगता है;
मुश्किल वक्त…

If you like this shayari, Please like and share on Facebook

 
   

Please Like MailShayari on Facebook

Mail Shayari on Facebook

Leave a Reply